Connect with us

Gorakhpur

एस पी नार्थ अमित कुमार पांडेय व थाना प्रभारी ने दलबल के साथ किया फ्लैग मार्च पिपराईच,

Published

on

एस पी नार्थ अमित कुमार पांडेय व थाना प्रभारी ने दलबल के साथ किया फ्लैग मार्च पिपराईच,

गोरखपुर,

मंडल चीफ बयूरो विनय तिवारी की रिपोर्ट,

गोरखपुर/

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर सुनील कुमार गुप्ता के निर्देशानुसार जहाँ नागरिकता संशोधन बिल का एक तरफ देश भर में विरोध चल रहा है तो वही कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए आज पिपराईच थाने के क्षेत्र में एस पी नार्थ व थाना प्रभारी सुधीर कुमार सिंह अपने हल्का प्रभारी और कांस्टेबलों के साथ पिपराईच के पूरे कस्बे में लोगो को एहसास दिलाने हेतु किया फ्लैग मार्च किया।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Gorakhpur

तीन दिवसीय दौरे पर हैं गोरखपुर के नोडल अफसर, आज कर सकते हैं ये खास काम

Published

on

By

गोरखपुर(सर्वेश तिवारी)।उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के नोडल अफसर व अपर मुख्य सचिव चीनी उद्योग व आबकारी संजय आर भूसरेड्डी तीन दिवसीय दौरे पर शुक्रवार दोपहर गोरखपुर पहुंचे। पहला दिन सैनिटाइजेशन, साफ-सफाई के अलावा जिला अस्पताल और कोविड अस्पतालों से जुड़ी जानकारी एकत्रित करने में बीता। माना जा रहा है कि वह आद जिला अस्पताल या कोविड अस्पतालों के अलावा सैनिटाइजेशन व सफाई व्यवस्था का भौतिक सत्यापन कर सकते है।
जिले में पहुंचने के बाद नोडल अफसर ने बेतियाहाता की मलिन बस्ती, अलहदादपुर, घोष कंपनी, रेती चौक, पांडेयहाता, धर्मशाला, गोरखनाथ, रसूलपुर आदि मोहल्लों का निरीक्षण किया। हालांकि उन्होंने इनमें से कुछ ही मोहल्लों में गाड़ी से उतरकर व्यवस्था देखी। सबसे पहले वह बेतियाहाता की मलिन बस्ती पहुंचे, जहां पहले से व्यवस्था चाक चौबंद थी। नालियों में दवा का छिड़काव हुआ था और सड़क आदि की भी सफाई की गई थी।
करीब दो घंटे के निरीक्षण के बाद नोडल अफसर सर्किट हाउस लौटे और नगर आयुक्त अंजनी सिंह से सैनिटाइजेशन व सफाई कार्य का शेड्यूल पूछा। इसी तरह डीएम के विजयेंद्र पांडियन से उन्होंने जिला अस्पताल में इलाज के संसाधनों के साथ ही डॉक्टर, दवा की उपलब्धता और बिल्डिंग तक की जानकारी ली। इसके अलावा उन्होंने डीएम से सीएचसी-पीएचसी की पूरी रिपोर्ट के साथ ही कोविड अस्पतालों की संख्या, वहां मौजूद संसाधन आदि की जानकारी मांगी।

सर्किट हाउस सभागार में बैठक में उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे कोविड-19 को लेकर शासन की तरफ से दिए जा रहे निर्देशों का अनुपालन करें और स्मार्ट कोरोना सैंपलिंग करें। उन्होंने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी से कोरोना सैंपलिंग की जानकारी ली और कहा, कि जो सीएचसी/पीएचसी स्मार्ट सैंपलिंग कर रही हैं उसकी सूचना दें कि वे किस प्रकार से सैंपलिंग कर रहे हैं।

बैठक के दौरान डीएम ने होम आइसोलेट किए गए लोगों की जांच के लिए और मोबाइल मेडिकल यूनिट की मांग की। बैठक में एसएसपी डॉ. सुनील गुप्ता, सीडीओ इंद्रजीत सिंह, जीडीए उपाध्यक्ष अनुज सिंह, सीईओ गीडा संजीव रंजन, नगर आयुक्त अंजनी सिंह आदि अफसर मौजूद रहे।

Continue Reading

Gorakhpur

हुक्का बार में चल रही थी जन्मदिन पार्टी, पुलिस ने की कार्रवाई

Published

on

By

गोरखपुर ब्यूरो (राघवेन्द्र दास)। गोरखनाथ इलाके के 10 नंबर बोरिंग स्थित किंग लॉज एंड कैफे नाम के हुक्का बार में शुक्रवार को जन्मदिन की पार्टी का आयोजन किया गया था। जानकारी होते ही पुलिस पहुंची और संचालक समेत पार्टी में शामिल 35 युवकों को गिरफ्तार कर ली। सभी के खिलाफ निषेधाज्ञा के उल्लंघन व महामारी अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है। वहीं हुक्का बार को सील करने के लिए थानेदार ने डीएम को रिपोर्ट भेज दिया।

जानकारी के लिए गोरखनाथ के जमुनहिया निवासी अजहर हुक्का बार चलाते हैं। शुक्रवार को शाहपुर में जेल रोड निवासी अजहर के दोस्त शिवम का जन्मदिन था। जिसके उपलक्ष्य में अजहर ने शिवम और उसके दोस्तों को पार्टी दी थी। बार में युवकों की भीड़ जुटने पर स्थानीय लोगों ने गोरखनाथ पुलिस को सूचना दी।

फोर्स के साथ पहुंचे थानेदार रामाज्ञा सिंह ने संचालक समेत पार्टी में शामिल 35 युवकों को गिरफ्तार कर लिया। बाद में सभी को मुचलके पर छोड़ दिया गया। सीओ गोरखनाथ प्रवीण सिंह ने बताया कि हुक्का बार को सील करने के लिए पुलिस की ओर से डीएम को रिपोर्ट भेजी गई है।

जिला प्रशासन की तरफ से गोरखनाथ, राजघाट और कैंट इलाके में 10 अगस्त तक लॉकडाउन है।

Continue Reading

Gorakhpur

परीक्षा केंद्रों के गेट पर नहीं दिखी सोशल डिस्‍टेंसिंग, छात्रों ने कोरोना के खौफ तले दी परीक्षा

Published

on

By

गोरखपुर(दुर्गेश तिवारी)।मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय (एमएमएमयूटी) की प्रवेश परीक्षा आज प्रदेश के 13 जिलों के 40 केंद्रों पर हो रही है। सुबह आठ से 11 बजे तक हुई पहली पाली की परीक्षा में कई परीक्षा केंद्रों के गेट पर फिजिकल डिस्‍टेंसिंग नहीं दिखी। परीक्षा देने के लिए जाते और परीक्षा देकर निकलते समय अभ्‍यर्थी और उनके अभिभावक भीड़ की शक्‍ल में नज़र आए। हालांकि ज्‍यादातर लोग मास्‍क और फेस शील्‍ड आदि लगाए हुए थे। छात्रों ने कोरोना के खौफ तले तीन घंटे परीक्षा दी। हालांकि परीक्षा केंद्रों के अंदर फिजिकल डिस्‍टेंसिंग और कोरोना से बचाव के तमाम उपाय किए गए थे।

दूसरी पाली की परीक्षा में अभ्‍यर्थियों की संख्‍या कम होने के नाते गेट पर कुछ गनीमत नज़र आई। इस प्रवेश परीक्षा में 18484 परीक्षार्थी रजिस्‍टर्ड हैं। आज कितने अभ्‍यर्थियों ने परीक्षा छोड़ दी फिलहाल इसका आंकड़ा नहीं मिल पाया है। कल बीएड की संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा होने वाली है। कोरोना के खौफ के बीच इन परीक्षाओं को कराने पर पिछले कई दिनों से सोशल मीडिया में सवाल उठाए जा रहे हैं। सबसे अधिक चिंतित अभिभावक हैं। अपने बच्‍चों की सुरक्षा को लेकर वे पिछले कई दिनों से सवाल पूछ रहे हैं। प्रदेश के 13 जिलों के 40 परीक्षा केंद्रों में मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की राज्य स्तरीय परीक्षा का आयोजन शनिवार को किया गया। तीन पालियों में होने वाली प्रवेश परीक्षा के लिए 18484 अभ्यर्थी पंजीकृत हैं। सर्वाधिक 14 परीक्षा केंद्र गोरखपुर में हैं, यहां कुल 7554 अभ्यर्थियों के परीक्षा देने का इंतजाम किया गया है।

परीक्षा की वीडियो रिकार्डिंग कराई गई
प्रवेश प्रकोष्ठ के समन्वयक प्रो. एसपी सिंह ने बताया कि पारदर्शी ढंग से नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए आब्जर्वर और सचल दस्ते से जुड़े प्राधिकारी शुक्रवार को ही अपने-अपने निर्धारित केंद्रों के लिए रवाना हो गए थे। हर जिले में तीन-तीन आब्जर्वर भेजे गए हैं। जहां चार या उससे अधिक केंद्र हैं, वहां सचल दस्ते के तौर पर दो-दो प्राधिकारियों को भेजा गया है। जहां इससे कम केंद्र हैं, वहां एक शिक्षक को नकलविहीन व्यवस्था सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी सौंपी गई हैं। हमेशा की तरह इस बार भी परीक्षा संचालन की वीडियो रिकार्डिंग कराई जा रही है, जिससे सुचिता को लेकर कोई सवाल खड़ा न हो पाए। उन्होंने बताया कि परीक्षा के दौरान कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखा जाएगा।अभ्‍यर्थियों को डेढ़ घंटे पहले बुलाया गया
अभ्यर्थियों को परीक्षा के समय से डेढ़ घंटे पहले आने को कहा गया था। ऐसा कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करने के लिए लिहाज से किया गया। इससे पहले परीक्षा केंद्र पर 45 मिनट पहले पहुंचने के लिए कहा गया था। बताया गया था कि सभी सेंटर पर अधिक से अधिक स्थानों पर सिंटिंग प्लान चस्पा किए जा रहे है ताकि बिना भीड़ लगाए अभ्यर्थी अपने कक्ष की जानकारी प्राप्त कर सकें। इसके बावजूद शनिवार को परीक्षा से पहले परीक्षा केंद्रों के गेट पर अभ्‍यर्थियों और अभिभावकों की भीड़ लग गई। हालांकि ज्‍यादातर लोग मास्‍क और फेस शील्‍ड आदि लगाए हुए थे।

लॉकडाउन में आवागमन के लिए मिली विशेष अनुमति
शासन की ओर से शनिवार को संपूर्ण लॉकडाउन घोषित है। ऐसे में किसी अभ्यर्थी को परीक्षा केंद्र पहुंचने में दिक्कत न हो, इसके लिए विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर शासन की ओर से जारी वह निर्देश उपलब्ध कराया था, जिसे दिखाने पर अभ्यर्थियों को केंद्र तक पहुंचने से रोका नहीं गया। कई अभ्यर्थी निर्देश को डाउनलोड कर उसका प्रिंट अपने साथ लाए थे।

तीन पालियों में आयोजित परीक्षा का समय
पहली पॉली: सुबह 8 बजे से 11 बजे,
दूसरी पॉली: दोपहर 12ः30 बजे से 2 बजे तक
तीसरी पॉली: अपराह्न 3 बजे से 5 बजे तक

Continue Reading
Advertisement

Trending

Copyright © 2019 nirvantimes.com. Powered by IP DIGITAL MARKETING SERVICES